पंचमढ़ी मध्यप्रदेश का एक खूबसूरत हिल स्टेशन है जिसे पंचमढ़ी कैंट के नाम से भी जाना जाता है. 

इसे सतपुड़ा की रानी के उपनाम से भी जाना जाता है. होशंगाबाद जिले में स्थित पंचमढ़ी 1100 मीटर की ऊंचाई पर बसा है

सिंध व सतपुड़ा की सुंदर पहाड़ियों से घिरा यह पर्यटन स्थल मध्यप्रदेश का सबसे ऊंचा पर्यटन स्थल है. 

यहां पर्यटकों को आकर्षित करने की हर चीज मौजूद है. खूबसूरत वाटरफॉल्स, शांत कलकल बहती नदी, खूबसूरत घाटियां जैसे प्रकृतिक के अद्भुत सौन्दर्य है

इसके अलावा पंचमढ़ी का पौराणिक और ऐतिहासिक महत्व भी है. मान्यता है कि पचमढ़ी या पंचमढ़ी पांडवों की पांच गुफाओं से बना है 

धूपगढ़ः यह सतपुड़ा रेंज का सबसे ऊंचा प्वाइंट है. इसे सनराइज और सनसेट प्वाइंट के नाम से भी जाना जाता है.

चारुगढ़ः यह दूसरा सबसे ऊंचा प्वाइंट है. इसका धार्मिक महत्व भी है क्योंकि इसके शिखर पर एक शिव मंदिर स्थित है.

पांडव गुफाएं: यहां प्राचीन कालीन पांच गुफाएं हैं. हिंदू कथाओं के अनुसार, महाभारत काल के दौरान यहां पांडवों ने आश्रय लिया था.

सड़क मार्ग से पंचमढ़ी भोपाल और इंदौर से अच्छी तरह जुड़ा हुआ है. भोपाल के हबीबगंज बस टर्मिनल से बसें चलती हैं जो 5-6 घंटे में पंचमढ़ी पहुंचती हैं. 

पंचमढ़ी पहुंचने के लिए नजदीकी रेलवे स्टेशन पिपरिया है जो केवल 50 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है. अगर आप हवाई मार्ग से पहुंचना चाहते हैं तो भोपाल और नागप...

पंचमढ़ी का तापमान 25 डिग्री से ज्यादा नहीं रहता अतः यहां साल के किसी भी महीने में जाया जा सकता है.

NEXT STORY :खूबसूरती से भरा है हिंदुस्‍तान का दिल 'मध्य प्रदेश',अपनी प्रेमिका को दिखाना न भूलें ये खास जगह