अगर आप दिसंबर महीने में कहां जाएं, इसकी प्लानिंग कर रहे हैं, तो क्यों न ऐसी किसी जगह का प्लान बनाएं जहां आप घूमने-फिरने के साथ ही थोड़ी मौज-मस्ती भी कर पाएं

भारत में ऐसी कई सारी जगहें हैं, जहां इस महीने कई तरह के फेस्टिवल्स का आयोजन होता है। इन फेस्टिवल्स को देखने देश ही नहीं दुनिया भर से लोग आते हैं।

नागालैंड का हॉर्नबिल फेस्टिवल 1 दिसंबर से शुरू होने वाला है.स महोत्सव को धूमधाम से मनाने के लिए राज्य पूरी तरह से तैयार है.

अंतरराष्ट्रीय पहचान बनाने वाला यह जनजातीय उत्सव 10 दिनों तक मनाया जाएगा और इसे देखने के लिए बड़ी तादाद में सैलानियों के पहुंचने की उम्मीद जताई जा रही है.

गौरतलब है कि हॉर्नबिल नागालैंड के प्रमुख त्योहारों में से एक है.इस फेस्टिवल ने अपने खास आयोजन के कारण अंतरराष्ट्रीय स्तर पर पहचान बनाई है

हॉर्नबिल महोत्सव राज्य पर्यटन और कला और संस्कृति विभागों द्वारा विविध जनजातियों को एक साथ रखने के प्रयास के रूप में शुरू किया गया था.

यह उत्सव 2000 से मनाया जा रहा है. इस उत्सव के दौरान ही नागालैंड घूमने का सबसे अच्छा वक्त भी माना जाता है, 

यह त्योहार नागा हेरिटेज विलेज किसामा में मनाया जाएगा. सभी जानते हैं कि भारत रंगीन, जोरदार और रोमांचक त्योहारों का देश है

इस त्योहार का नाम नागालैंड के जंगलों में पाये जाने वाले हॉर्नबिल पक्षी के नाम पर पड़ा है.

इस महोत्सव का मकसद नागा संस्कृति को संरक्षित करना और उसका प्रचार-प्रसार करना है. इस त्योहार के जरिए सभी जनजातियों के बीच सद्भाव संबंध स्थापित करना भी है.

Fill in some text

। इस फेस्टिवल में नागा जनजातियों के पारंपरिक खेलों, नृत्य, संगीत, उनकी युद्ध कलाओं को देखने का मौका मिलता है।

NEXT STORY : नागालैंड का हॉर्नबिल फेस्टिवल आखिर क्यों सारी दुनिया में है प्रसिद्ध