पूर्वोत्तर-भारत अपनी अलौकिक सुंदरता के कारण सिर्फ हिंदुस्तान में ही नहीं बल्कि विश्व स्तर पर भी प्रसिद्ध है

पूर्वोत्तर-भारत की खूबसूरत पहाड़ियों के बीच में ऐसी कई अद्भुत जगहें हैं जहां घूमने के लिए हर साल लाखों देशी और विदेशी सैलानी पहुंचते हैं

इन्हीं खूबसूरत पहाड़ियों के बीच में मौजूद है Dzukou valley जो जुकोऊ या फिर जुकू घाटी के नाम से भी प्रसिद्ध है।

dzukou valley  अपने प्राकृतिक वातावरण और प्राणी-वनस्पति विविधता के लिए प्रसिद्ध है। कहा जाता है कि जो फूल यहां खिलते हैं, वो भारत के किसी अन्य हिस्से में नहीं मिलते हैं।

यह घाटी कोहिमा से लगभग 25 किलोमीटर की दूरी पर स्थित हैं। लेकिन काफी दूर होने की वजह से यहां कम ही लोग आते हैं।

Dzukou valley में फैले इन फूलों का दीदार करने के लिए लगभग डेढ़ घंटे की ट्रैकिंग करनी पड़ती है। तब आपको इस घाटी की खूबसूरती झलक देखने को मिलती है

नेचर लवर्स के साथ ही बर्ड्स वाचर्स और फोटोग्राफी के शौकीनों के लिए भी ये जगह किसी जन्नत से कम नहीं है

यहां तक पहुंचने का सबसे नजदीकी रेलवे स्टेशन दीमापुर रेलवे स्टेशन है। यहां का नजदीकी हवाई अड्डा दीमापुर में ही स्थित है। 

यहां रुकने के लिए एक से एक बेहतरीन जगहे हैं। यहां आप खुद से टेंट लगाकर रुक सकते हैं।

वैसे तो आप यहां घूमने के लिए किसी भी समय में जा सकते हैं। लेकिन, जूकू घाटी में घूमने का सबसे अच्छा समय सर्दियों के मौसम को माना जाता है

dzukou valley घूमने के लिए इनर लाइन परमिट लेने की ज़रूरत होती है। इसके लिए आप दीमापुर, कोलकाता और गुवाहाटी या कोहिमा गवर्नमेंट ऑफीस से परमिट ले सकते हैं।

NEXT STORY :भारत के 5 बेहतरीन हनीमून डेस्टिनेशन, जिनके सामने विदेशी जगह भी हैं फीकी