हिमालय की गोद मौजूद ऐसी कई धार्मिक स्थल है, जो आज भी करोड़ों लोगों के लिए आस्था का केंद्र है।

केदारनाथ, बद्रीनाथ या अमरनाथ गुफा जैसे धार्मिक स्थलों की रहस्यमयी कहानियां आज कई लोगों को चकित कर देती हैं।

हिमाचल की गोद में मौजूद कैलाश पर्वत भी शिव भक्तों के लिए एक रहस्यमयी स्थल बना हुआ है। 

कई लोगों का मानना है कि भगवान शिव इस पर्वत पर परिवार के साथ निवास करते हैं, इसलिए आज तक कोई पर्वतारोही कैलाश पर्वत पर नहीं चढ़ पाता है।

पौराणिक कथा के अनुसार कैलाश पर्वत पर अलौकिक शक्तियों का वास है।

यह एक साथ कई भगवान विराजमान है और यहां पुण्य आत्माएं रहती हैं। इसलिए कैलाश पर्वत को कई लोग स्वर्ग द्वार भी मानते हैं।

 लोगों का मानना है कि कैलाश पर्वत के आसपास में भगवान शिव जी की डमरू की आवाज आती रहती है। 

कई लोगों का भी मानना है कि कैलाश पर्वत से ओम ॐ की आवाज आती है।

हालांकि, कई लोगों का यह मानना है कि यहां मौजूद पहाड़ों पर जब बर्फ जमती और जब बर्फ से हवा टकराती है तो ॐ के रूप में सुनाई देती है।

वैज्ञानिकों के अनुसार यह धरती का केंद्र है। कैलाश पर्वत दुनिया के 4 मुख्य धर्मों- हिन्दू, जैन, बौद्ध और सिख धर्म का केंद्र है।

दावा किया जाता है कि कई बार कैलाश पर्वत पर 7 तरह की लाइटें आसमान में चमकती हुई देखी गई हैं।

NEXT STORY;आदि कैलाश पर्वत के रहस्य तो सुने होंगे, ऐसे कर सकते हैं रोमांच से भरी यात्रा