दूधसागर वॉटरफॉल, गोवा कर्नाटक की सीमा पर स्थित देश का सबसे खूबसूरत फॉल्स में से एक है

इस झरने की ऊंचाई 320 मी. है, जो दूर से देखने पर लगता है जैसे झरने से पानी नहीं बल्कि दूध गिर रहा हो

दूधसागर फॉल्स, भारत के पांच सबसे ऊंचे झरनों में शुमार है।

मांडोवी नदी पर बना यह दूध जैसा झरना जब पहाड़ी से नीचे गिरता है तो मानिए जैसे प्रकृति ने अपनी पूरी कायनात यही बसा दी हो

मानसून के दौरान या मानसून के बाद यहां जाना बेहद अच्छा है। क्योंकि, बारिश के दिनों में इसकी खूबसूरती देखने लायक बनती है।

बारिश के पानी के कारण यह झरना अपने चरम पर होता है, जिससे ये बेहद सुंदर दिखता है। लेकिन इस दौरान ट्रेकिंग करना खतरे से खाली नहीं है।

ये झरना सप्ताह के सातों दिन सुबह 9 बजे से लेकर शाम 6 बजे तक खुला रहता है।

पर्यटकों को यहां घूमने के लिए कम से कम एक दिन समय निकालना चाहिए, ताकि दूधसागर फॉल्स की खूबसूरती को अच्छे से निहार सकें।

कोलेम से यहां तक पहुंचने के लिए आप जीप सफारी का आनंद ले सकते हैं। इस दौरान आप रास्ते में आसपास की छोटी नदियों को भी देख सकेंगे

इसके लिए करीब 3000 रुपये चार्ज किए जाते हैं। इसमें एक साथ सात लोग बैठ सकते हैं।

गोवा वन विभाग के गेट पर यात्रियों को एक रसीद कटानी होती हैं, जिसका शुल्क 50 रुपये प्रति व्यक्ति होता हैं।

NEXT STORY: हिल स्टेशनों की रानी के नाम से मशहूर Ooty की ये जगहें, मन मोह लेगी