Manipur Inner Line Permit

Manipur Inner Line Permit:मणिपुर इनरलाइन परमिट(ILP) कैसे प्राप्त करें:

Manipur Inner Line Permit :मणिपुर इनरलाइन परमिट (ILP)एक आधिकारिक यात्रा विवरण है जो संबंधित राज्य सरकार द्वारा जारी किया जाता है। यह भारतीय नागरिकों को देश के अंदर किसी संरक्षित क्षेत्र में कुछ समय तक जाने की अनुमति देता है।1873 के आधार पर इसे बंगाल इस्टर्न फ्रांटियर ने लागू किया था।

ये कानून ब्रिटिश सरकार द्वारा इसलिए लागू किया था की वहा के आदिवासी लोगों से ब्रिटिश लोगों के हितों की रक्षा हो सके। वहां के आदिवासी लोग अक्सर ब्रिटिश लोगों के क्षेत्र में प्रवेश किया करते थे। इससे ब्रिटिश लोगों को काफी असुविधा का सामना करना पड़ता था। इससे बचने के लिए ब्रिटिश सरकार ने इस कानून को पास किया। इसकी वजह से अब आदिवासी लोग और ब्रिटिश लोग एक दूसरे के इलाके में घुसने से पहले परमिशन लेकर ही घुस सकते थे।

Manipur Inner Line Permit
best places to visit in manipur

इसी कानून को नाम दिया गया इनर लाइन परमिट। और यह आज भी भारत के कई राज्यों में लागू है। चलिए जानते हैं भारत के कौन-कौन से राज्य में यह इनर लाइन परमिट जारी है।

भारत में ILP के कितने स्टेट है

भारत के नागरिक होने के बाद भी कुछ राज्यों में आप बिना इनर लाइन परमिट घुस नहीं सकते हैं। उन राज्यों की सूची कुछ इस प्रकार है।

  • अरुणाचल प्रदेश ( Arunachal Pradesh)
  • मिझोराम (Mijhoram)
  • नागालैंड (Nagaland)
  • मणिपुर (Manipur)
  • लक्षद्वीप(Lakshdwip)
  • हिमाचल प्रदेश

नागालैंड के लिए इनर लाइन परमिट जरूरी है क्या

जी हां नागालैंड में प्रवेश करने के लिए आपको इनर लाइन परमिट की जरूरत पड़ती है। अगर आप विदेशी नागरिक हो या जो नागालैंड का मूल निवासी ना हो उन्हें नागालैंड में प्रवेश करने के लिए इनर लाइन परमिट की जरूरत पड़ती है।

READ THIS ALSO :  Tourist Places in Nagaland:Discovering Nagaland's Natural Wonders

हाल ही में नागालैंड सरकार ने इसमें कुछ बदलाव किए हैं। जिसके जरिए अब इनर लाइन परमिट की सक्ती बहुत ज्यादा कम हो चुकी है। एक काफी अच्छा कदम माना जा रहा है क्योंकि इससे पर्यटन को काफी अच्छा बढ़ावा मिलता है।

नागालैंड में हर साल 1 दिसंबर से लेकर 10 दिसंबर तक हॉर्नबिल फेस्टिवल का आयोजन होता है। इसे देखने के लिए भारत के कोने कोने से और विश्व के और कई सारे देशों से पर्यटक नागालैंड आ जाते हैं।

मणिपुर के लिए इनर लाइन परमिट जरूरी है क्या(Manipur Inner Line Permit)

अगर आपके मन में यही विचार आ रहा है कि नागालैंड की तरह क्या मणिपुर में भी इनर लाइन परमिट की सक्ती कम हो चुकी है तो आप बिल्कुल गलत है। मणिपुर में प्रवेश करने के लिए आपको राज्य सरकार के द्वारा लागू किया मणिपुर इनर लाइन परमिट बेहद जरूरी है।

MANIPUR INNER LINE PERMIT
lokatk lake manipur

मणिपुर इनर लाइन परमिट से किसको छूट मिली है(Manipur Inner Line Permit)

मणिपुर के बाहर के भारतीय लोग उनको इनर लाइन परमिट लेना जरूरी है। इस इनर लाइन परमिट से छुटकारा सिर्फ यूनियन कारपोरेशन को मिला हुआ है।

यह इनर लाइन परमिट देश में काफी हद तक एक बहस का भी हिस्सा बना रहा है। कुछ सामाजिक संस्थाओं ने इसके खिलाफ सुप्रीम कोर्ट में याचिका भी दायर की थी। मगर वस्तुस्थिति यह है कि आज भी मणिपुर के लिए इनर लाइन परमिट जरूरी है।

2022 के दिसंबर महीने में मैं मणिपुर गया था तब भी मुझे इनर लाइन परमिट लेना पड़ा था। वहां से 5 दिन रहने के बाद में अगरतला के लिए निकल गया था इसके बावजूद मुझे मणिपुर गवर्नमेंट की कर्मचारियों ने कॉल करके यह पूछ लिया था कि क्या मैं अभी भी मणिपुर में हूं या मणिपुर से बाहर हूं। आप इस वीडियो को पूरा पूरा देख सकते हैं मेरे यूट्यूब चैनल के ऊपर।

चलिए जानते हैं Manipur Inner Line Permit कैसे प्राप्त करें

मणिपुर इनर लाइन परमिट आप दो प्रकार से प्राप्त कर सकते हैं। एक प्रकार वह जो आप सीधा बॉर्डर या एयरपोर्ट पर लैंड होने के बाद प्राप्त कर सकते हैं। और दूसरा प्रकार यह है कि आप इसे ऑनलाइन भी घर बैठे प्राप्त कर सकते हैं।

READ THIS ALSO :  Nepal Tour Plan: नेपाल ट्रिप पर जाएं तो इन जगहों को घूमना न भूलें, यात्रा होगी पैसा वसूल

नीचे मैंने मणिपुर इन अर्लायर ऑनलाइन आवेदन पत्र भरने का पूरा प्रोसीजर दिया हुआ है।

  • सबसे पहले आप मणिपुर सरकार की आधिकारिक वेबसाइट www.manipurilponline.mn.gove.in पर जाए।
  • साइट पर जाने के बाद अप्लाई ऑनलाइन था पेज खुल जाएगा
  • यहां पर आपको अलग-अलग चार प्रकार के परमिट दिखाई देंगे। इनमें से आपको जो चाहिए उसके ऊपर आप क्लिक कर सकते हैं।
  • पासपोर्ट साइज फोटो, आपके हस्ताक्षर,आधार कार्ड इन दस्तावेजों की आपको जरूरत होगी।
  • आवेदन पत्र पूरा भरने के बाद आप इसे सबमिट कर सकते हैं।
  • आपके दिए गए ईमेल के ऊपर आपको इनर लाइन परमिट आ जाएगा।

मणिपुर इनर लाइन परमिट ऑनलाइन आवेदन प्रक्रिया(Manipur Inner Line Permit)

मणिपुर इनर लाइन ऑफलाइन परमिट के लिए आपको वहां के नियुक्त सरकारी अधिकारी से संपर्क करना होगा। यहां आपको आधार कार्ड और आपका पासपोर्ट साइज फोटो सबमिट कर के उसको स्कैन करना होगा। आपके हस्ताक्षर और आपका पासपोर्ट का फोटो भी स्कैन होगा।

वहां के उपस्थित सरकारी अधिकारी के द्वारा आवेदन पत्र पूरी तरह से भरने के बाद आपके लिए इनर लाइन परमिट जारी किया जाएगा। ध्यान रहे इनर लाइन परमिट फ्री नहीं है इसके लिए आपको कुछ पैसे भुगतान करने होंगे।

मणिपुर ILP(Manipur Inner Line Permit) फीस

मणिपुर आई एल पी के लिए ऑनलाइन आवेदन करते समय आपको नीचे दी गई हुई राशि का भुगतान करना होगा।

  • अगर आप विशिष्ट श्रेणी के परमिट के लिए आवेदन कर रहे हैं तो आपको शुरुआत में ₹5000 का भुगतान करना होगा और बाद में ₹10000 का भुगतान करना होगा।
  • अगर आप पहली बार निमित्त परमिट के लिए शुल्क का भुगतान कर रहे हो तो आपको ₹500 और उसी को नवीनीकरण के लिए ₹1000 भुगतान करना पड़ेगा।Manipur Inner Line Permit
  • अगर आप एक पर्यटक के तौर पर अस्थाई परमिट के लिए अप्लाई कर रहे हैं तो आप सिर्फ ₹100 मैं पर वेट प्राप्त कर सकते हैं और उसी परमिट को अगर आप नवीनीकरण करना चाहते हो तो ₹200 का भुगतान करना होगा।
  • ओर थोक परमिट के लिए आपको सिर्फ ₹100 और नवीनीकरण के लिए ₹100 ही भुगतान करने होंगे।
READ THIS ALSO :  Bhutan Trip:₹10000, 8 दिन के कम बजट में भूटान की यात्रा कैसे करें

मणिपुर के इनर लाइन परमिट के प्रकार Manipur Inner Line Permit

Manipur Inner Line Permit
best places to visit in manipur

मणिपुर इनर लाइन परमिट के लगभग 4 विशिष्ट प्रकार हैं। मतलब यह कि अगर आप आवेदन करना चाहते हैं तो आपको कौन से प्रकार में आवेदन करना होगा इस बात की जानकारी आपको पहले से होनी चाहिए। चलिए जानते वह चार प्रकार कौन-कौन से हैं।

  • विशिष्ट श्रेणी (Form A)-इस श्रेणी में आते हैं राज्य के व्यावसायिक प्रतिष्ठान वाले सरकार के ठेकेदार, सरकार के निवेशक और व्यापारी जैसे लोग। यह लोग हर 3 साल के बाद परमिट का नवीकरण कर सकते हैं।
  • नियमित परमिट(Form B)-इस परमिट के अंदर वह लोग आते हैं जो राज्य का दौरा करने वाले हो ओर किसी भी स्थाई निवासी द्वारा उनको प्रायोजित किया गया हो। यह परमिट लगभग 6 महीने का हो सकता है।
  • अस्थाई परमिट(Form C)-इस परमिट के अंदर वह लोग आते हैं जो राज्य में पर्यटन हेतु प्रवेश करना चाहते हैं। छोटे व्यवसाय प्रतिनिधि भी इस परमिट का लाभ ले सकते हैं इसकी अवधि लगभग 15 दिनों की होती है।Manipur Inner Line Permit
  • लेबर परमिट (form D)-यह परमिट उन लोगों को जारी किया जाता है जो इस राज्य में किसी ठेकेदार के द्वारा यह किसी कंपनी के द्वारा काम के लिए लाए जाते हैं। मजदूरी का काम करने वाले लोग इसी परमिट का लाभ उठा सकते हैं। इसकी अवधि परमिट लेते समय काम के स्वरूप को देखकर दी जाती है।

Conclusion:

तो एक ही पूरी जानकारी मणिपुर के इनर लाइन परमि(Manipur Inner Line Permit)ट के बारे में। अगर फिर भी आपके मन में मणिपुर इनर लाइन परमिट से संबंधित कोई प्रश्न है और आप पूछना चाहते हैं तो आप नीचे कमेंट बॉक्स में अपने सवाल पूछ सकते हैं। हमारी यह जानकारी अगर आपको अच्छी लगी है तो आप जरूर अपने दोस्तों और अपने कौटुंबिक सोशल मीडिया ग्रुप पर शेयर कर सकते हैं ताकि वह लोग भी इस जानकारी का फायदा उठा सके।

READ THIS STORY:मणिपुर की चौकानेवाली 10 बाते amazing facts of manipur
Manipur amazing things
Manipur amazing things

Leave a Reply

x
error: Content is protected !!
Scroll to Top